बथुए को बनाएं अपने खानपान का हिस्सा

कई रोगों में कारगरबथुआ कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है। डॉक्टरों के मुताबिक इसमें आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसके साग को नियमित रूप से खाने से कई रोगों को जड़ से समाप्त किया जा सकता है। इससे गुर्दे में पथरी होने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता …

Continue Reading

नाखून बता देते कैसी है सेहत

रखें ध्यान नाखून में आने वाले छोटे-मोटे बदलावों पर हमारा ध्यान नहीं जाता, जबकि यही बदलाव हमारे हैल्थ की पूरी कहानी कहते हैं। ऐसे में अगर आपको भी अपने नाखूनों पर कुछ निशान दिखें तो सतर्क हो जाएं क्योंकि यह किसी बीमारी का संकेत हो सकता है। नाखूनों के बदल…

Continue Reading

पूरे सप्ताह रहे एक जैसा मूड तो हो सकता है यह डिसऑर्डर

जाने क्या है बायपोलर डिसऑर्डरबायपोलर डिसऑर्डर एक प्रकार की मानसिक बीमारी है। अनुमान है कि 100 में से एक लोग को यह बीमारी होती है। इसके मरीजों की संख्या देश में एक करोड़ से अधिक है। बायपोलर डिसऑर्डर का मरीज अजीब व्यहार करता है। मरीज कभी अधिक उत्साह तो क…

Continue Reading

घी के रंग और शहद के बहाव व घुलने से पहचानें मिलावट

जागरूकता में कमीआजकल शुद्ध और अशुद्ध चीजों को पहचान पाना मुश्किल है। लोग जागरूकता में कमी के कारण इस ओर ध्यान नहीं देते हैं। खाद्य पदार्थों में मिलावट आम हो गई है। यदि थोड़ी सी सावधानी बरती जाए तो आसानी से मिलावट को पहचाना जा सकता है। ऐसे जानें शुद्धता…

Continue Reading

जापानी कंपनी ने दिया था आइडिया, अब वॉक का बना पैमाना

10 हजार कदम रोजाना, ऐसे करें मैनेज रोज आप कितने कदम चलते हैं उसको गिने। धीरे-धीरे अपनी गतिविधि को बढ़ाएं। अपने कदमों को एक साथी या ऐप के माध्यम से भी गिना जा सकता है। रोजाना 30 मिनट की सैर, लिफ्ट के बजाय सीढिय़ों का चढऩा। प्रवेश द्वार से दूर पार्किंग स…

Continue Reading

गर्मियों में इन लक्षणों से समझें बच्चे की परेशानी

गर्मी की वजह से बच्चों को ज्यादा दिक्कत होती है। हीट स्ट्रोक, डिहाइड्रेशन, लू लगने से सिर दर्द, थकान, सुस्ती, भूख का कम होना, शरीर में ऐंठन, उल्टी, पेट दर्द, दस्त होती है। इसके पीछे बड़ी वजह है ज्यादा देर तक धूप में रहना। इससे शरीर से अधिक पसीना निकलने…

Continue Reading

जानिए! बच्चों से लेकर बुजुर्गों की क्यों बिगड़ रही सेहत

बच्चे : सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट की रिपोर्ट के अनुसार 66 प्रतिशत बच्चों के शरीर में शुगर का स्तर औसत स्तर से ज्यादा है। 29 फीसदी शहरी 14-18 साल के बच्चे मोटापे से ग्रस्त हैं। माता-पिता बच्चों को स्वस्थ व संतुलित खानपान की आदतें डालें। जंकफूड, पैक…

Continue Reading

जाने रसभरी खाने से कौन से रोग होंगे दूर

कैलोरी का स्तर कमइस सुपर बेरीज में कैलोरी का स्तर बहुत ही कम होता है और इसमें अधिकांश विटामिन और खनिज पाया जाता है। इस फल में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है। पॉलीफेनोल और कैरोटीनोइड्स मानव स्वास्थ्य के जरूरी पोषक तत्व है। रसभरी में ये काफी …

Continue Reading

ये चार बातें आंखों के लिए हैं फायदेमंद

रोशनी पर पड़ता असर आंखे अनमोल है। यदि इसकी ओर ध्यान नहीं दिया जाए तो आंखों की रोशनी पर असर पड़ता है। आजकल छोटे—छोटे बच्चे भी चश्मा लगाने लग गए हैं उसका मुख्य कारण है अनियमित जीवनशैली और खानपान। तकनीक के इस दौर में ज्यादातर लोग अपना समय मोबाइल या …

Continue Reading

बच्चों की मानसिक बीमारी है ऑटिज्म

ऑटिज्म को ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑडर्र (ASD) भी कहा जाता है। इसमें बच्चा सामाजिक तौर पर खुद को जोड़ नहीं पाता है। बच्चा अपनी भावनाओं को स्पष्ट रूप से व्यक्त नहीं कर पाता है। ऑटिज्म की जांच के लिए कोई मेडिकल टेस्ट उपलब्ध नहीं है। बच्चे के व्यवहार और विकास…

Continue Reading

स्पोर्ट्स इंजरी से बचने के लिए, व्यायाम करने से पहले करें वार्मअप

व्यायाम से पहले मांसपेशियों में लचीलापन बढ़ाने के लिए 15-20 मिनट वार्मअप कर बचें स्पोट्र्स इंजरी से
बचपन में लगी चोट का समय से व सही तरीके से इलाज कराना जरूरी होता है। यदि फ्रैक्चर हुई हड्डी खुद जुड़ेगी तो संभव है कि वह गलत तरीके से जुड़े। इससे हाथ-पा…

Continue Reading

कम नींद और तनाव से बढ़ते हैं मिर्गी के झटके

मिर्गी दिमाग से जुड़ी एक बीमारी है, इसमें मरीज को झटके आते हैं। यह परेशानी दिमाग में असामान्य तरंगें बनने के कारण होती है। सही इलाज से न केवल इस बीमारी को कण्ट्रोल किया जा सकता है बल्कि मरीज सामान्य जीवन जी सकता है। मिर्गी के बारे में भ्रम है कि यह युव…

Continue Reading

दिनभर के 24 घंटे को इस तरह बांटेंगे तो बीमार नहीं पड़ेंगे

दिनचर्या को तीन भागों में बांटें कभी-कभी आपको लगता होगा कि आपके पास दिनभर में कुल 24 घंटे ही हैं और जो काम आप करना चाहते हैं उनके लिए ये समय कम पड़ता है। दरअसल यह स्थिति इसलिए बनती है क्योंकि हम अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित नहीं करते हैं। तो चलिए आज आपको…

Continue Reading

खानपान व बदलती जीवनशैली के कारण गर्भवती महिलाओं में बढ़ रही दिक्कत

प्रेग्नेंसी केयरअनियमित जीवनशैली व गलत खानपान के कारण गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को ब्लडप्रेशर, डायबिटीज व थायरॉयड की दिक्कत होती है। इसका शिशु के स्वास्थ्य पर भी गलत असर पड़ता है। गर्भावस्था के शुरुआती तीन माह में मधुमेह का स्तर 80/100-110 मि.ग्रा. स…

Continue Reading

अचानक खुजली, चकत्ते व जुकाम की वजह क्या है?

बदलते मौसम में एलर्जी की दिक्कत बढ़ जाती है। धूल, धुआं, परफ्यूम, किसी खास तरह की खुशबू, दवा आदि को लेकर संवेदनशील हो जाता है। रोग प्रतिरोधक तंत्र इसे स्वीकार नहीं करता है। इसकी प्रतिक्रिया त्वचा पर सबसे पहले दिखती है। त्वचा पर लाल चकत्ते, सांस तेज चलना…

Continue Reading

टीबी से हर साल होती हैं लाखों लोगों की मौत, आज मानते हैं टीबी डे

टीबी (टयूबरकोलोसिस) एकहैं गंभीर संक्रामक बीमारी है। टीबी से हर वर्ष विश्वभर में लाखों लोगों की मौत होती है। WHO के मुताबिक 2017 में विश्व में एक करोड़ से अधिक नए मरीजों की पहचान हुई थी। वर्ष 2017 में विश्व में 16 लाख से अधिक लोगों की मौत टीबी से हुई थी…

Continue Reading

पौरुष ग्रन्थि में संक्रमण से बुखार के साथ रुक सकता है यूरिन

50 वर्ष की आयु के बाद बढ़ता प्रोस्टेट का आकार
जैसे-जैसे पुरुषों की आयु बढ़ती है, उनके शरीर में कई तरह के परिवर्तन होते हैं। इन परिवर्तनों में से अधिकांश की पौरुष ग्रंन्थि (प्रोस्टेट) बढ़ जाती है। सामान्यत: 50 वर्ष की आयु के बाद प्रोस्टेट का आकार बढ़ता…

Continue Reading

61 की उम्र में 10 किमी. दौड़ता व 3-4 घंटे एक्सरसाइज करता हूं : पुनीत

61 की उम्र जहां अक्सर लोग फिटनेस को लेकर कुछ नया करने की हिम्मत नहीं करते हैं वहीं, महाभारत धारावाहिक के दुर्योधन ने 24 किलो वजन कम कर खुद को फिट किया है। वे अभी 4-5 किलो वजन और कम करना चाहते हैं। पुनीत माह में एक बार चीट डे करते हैं। जो जी में आता है …

Continue Reading

ये सावधानियां बरतेंगे तो बचेंगे कई मुश्किलों से

त्वचा पर केमिकलयुक्त रंग से खुजली, लाल चकत्ते आते हैं। रंग से आंखें लाल हो जाती है। सूजन आने के साथ संक्रमण भी हो सकता है। इसके अलावा रंगों के नाक में जाने से या खुश्बू से छींके, नाक से पानी, सिरदर्द जैसे लक्षण दिखते हैं। सांस की नली में जाने से खांसी,…

Continue Reading

आंखों में रंग पड़ जाए तो रगड़ें नहीं, पानी से धोएं

आंखों में रंग जाने से कुछ भी दिखाई नहीं देता है। जितना जल्दी हो सके साफ व ठंडे पानी से दो मिनट तक धोएं। रंगों में केमिकल होने से आंखों की रोशनी जा सकती है। इसमें लापरवाही न बरतें। कॉर्निया खराब हो सकती है: देर करने से रंग में मौजूद लेड, सिलिका जैसे केम…

Continue Reading