एक्सपर्ट से जानिए कमजाेरी, याददाश्त आैर जोड़ दर्द जैसी समस्या से जुड़े सवालों के जवाब

Breaking News

सवाल - कुछ दिनाें से कमजाेरी महसूस हाे रही है। इलाज कराने पर काेर्इ फायदा नहीं हुआ ताे डाॅॅॅक्टर बदल लिया। फिर भी अच्छा महसूस नहीं कर रहा हूं।काेर्इ उपाय बताएं। - पवन

जवाब - कमजाेरी का संबंध कर्इ वजहाें से हाेता है।यदि बुखार के बाद की कमजाेरी है ताे यूनानी में खमीरा मरमरीज या खमीरा राउजबान सादा ले सकते हैं। ये दाेनाें खमीरे कमजाेरी दूर करने में बहुत अच्छा काम करते हैं।इसके साथ अलावा उन्नाब का शरबत लेना भी फायदेमंद रहता है।

सवाल - अच्छी तरह से पढ़ार्इ हाे इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए?- दर्शक

जवाब- दिमागी ताैर पर काम करने वालाें आैर पढ़ार्इ करने वालाें की याददाश्त अच्छी हाेनी चाहिए। याददाश्त बढ़ाने के लिए अखराेट का हलावा, बादाम का हलवा, काजू, खसखास(अफीम के बीज)लाभदायक हाेते हैं। अगर आपकाे अपनी याददाश्त तेज करनी है ताे ये नुस्खा आजमा सकते हैं:-एक चम्मच खसखास,दाे चम्मच गेंहू, तीन बादाम, काजू रात काे पानी में भिगाे दें। सुबह बादाम के छिलके उताकर सभी चीजाें काे पीस लें। फिर इस मिश्रण काे घी में भून लें। ठंडा कर राेज सुबह खाली पेट खाएं। इससे दिमागी कमजाेरी दूर हाेगी आैर याददाश्त में इजाफा हाेगा।

सवाल - मुझे 2 साल से नाक में एलर्जी की समस्या है।नाक आैर आंख से पानी आता हैं। रात काे सांस लेने में तकलीफ हाेती है।पूरे दिन छिंके आती हैं।सर्दी के साथ बुखार भी रहता है। इलाज बताएं।- प्रदीप, अमन, दर्शक

जवाब - शरीर की इम्यूनिटी वीक हाेने की वजह से सर्दी, जुकाम के राेग हाेते हैं।किसी चीज से एलर्जी हाेना भी छींक आने का बड़ा कारण है।एलर्जी के कारण नाक से पानी आना, आंखाें में लाली आैर खुजली जैसी समस्याएं हाे जाती हैं। इसके लिए जरूरी है कि जिन चीजाें से एलर्जी हाे उनसे दूर रहा जाए। यूनानी में हब्बेशिफा की एक-एक गाेली सुबह-शाम खाने से सर्दी जुकाम की तकलीफ में राहत मिलती है। इसके अलावा लेवेंडर के फूलाें या उन्नाब का शर्बत सुबह -शाम पीने से भी फायदा मिलता है।ये शर्बत इम्यूनिटी बूस्टर है।एलर्जी के लिए गुले मुंडी काे रात में भिगाेकर सुबह उसका पानी पीने से भी सर्दी के मर्ज में राहत मिलती है।


सवाल - मेरे एक पैर के टखने में सूजन रहती है,पैराें में दर्द रहता है, इसका इलाज बताएं।- जयकिशन कनवा, गाेपाल बेनीवाल

जवाब - घुटनाें के दर्द, जाेडाें के दर्द लाइफ स्टाइज डिजीज में आते हैं।आज की आराम तलब जीवनशैली इन समस्याआें का मुख्य कारण है।ज्वाइंट मूवमेंट काे ठीक रखने के लिए एक्सटेंशन आैर फलेक्सन की गतिविधि हाेती रहनी चाहिए।इसलिए जरूरी है की चलने फिरने की आदत डालें।घुटने की मूवमेंट काे सही तरीके से करें ताकि घुटनाें की सूजन आैर दर्द से राहत मिले। इलाज के ताैर पर यूनानी में हिजामा आैर कंपिंग थैरेपी इन तकलीफाें आराम दायक हाेती हैं। इसके अलावा राेग दर्द या राेगन सूकून के तेल की नियमित मालिश से दर्द व सूजन में राहत मिलती है।

सवाल - मेरी एड़ी में दर्द रहता है इसका कारण क्या है, इसे कैसे ठीक किया जा सकता है?- रामनारायण

जवाब -एड़ी के दर्द काे प्लांटार फासिसाइटिस कहते हैं। यह एक न्यूरो लाॅॅॅकिल डिसऑर्डर है।इसमें कपिंग थैरेपी आैर हिजामा लगवाना बेहतर हाेता है।

विशेषज्ञ - डाॅॅॅ.माे. अासिफ खान, यूनानी विशेषज्ञ

यहां भेजें सवाल -
आप सेहत से जुड़े सवाल नाम, पते व इ-मेल के साथ healthpatrika@in.patrika.com पर या वाट्सऐप नंबर 7976058412 पर भेज सकते हैं। आपके द्वारा भेजे गए सवालों के जवाब एक्सपर्ट- डॉक्टर्स द्वारा दिए जाएंगें और पत्रिका डॉट कॉम पर प्रकाशित किए जाएंगें।

(सलाह : आपको यदि स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी है तो अपने चिकित्सक की राय से ही इन हैल्थ टिप्स, इलाज, नुस्खों और दवाइयों को आजमाएं।)

उपराेक्त सवाल-जवाब का वीडियाे यहां देखें :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *