रुपए की मजबूती से देश को हुआ बड़ा फायदा, विदेशी पूंजी भंडार में हुर्इ 2.06 अरब डॉलर की बढ़ाेतरी

Breaking News Business

नई दिल्ली। पिछले कुछ समय से रुपए के डाॅलर के मुकाबले मजबूत होने से देश को काफी फायदा हुआ है। पिछले एक सप्ताह में विदेशी पूंजी भंडार में काफी इजाफा हुआ है। वास्तव में जब भी रुपया डाॅलर के मुकाबले मजबूत होने की स्थिति में होता है तो देश के विदेशी पूंजी भंडार में इजाफा करता है। जिससे देश की स्थिति मबूत होती है। बैंक के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को डॉलर में व्यक्त किया जाता है और इस पर भंडार में मौजूद पाउंड, स्टर्लिंग, येन जैसी अंतर्राष्ट्रीय मुद्राओं के मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव का सीधा असर पड़ता है। आइए आपको भी बताते हैं कि देश कह विदेशी मुद्रा भंडार में कितना इजाफा हुआ है।

विदेशी पूंजी भंडार में बड़ा इजाफा
देश का विदेशी पूंजी भंडार 8 फरवरी को समाप्त सप्ताह में 2.06 अरब डॉलर बढ़कर 400.24 अरब डॉलर हो गया, जो 28,459.6 अरब रुपए के बराबर है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से जारी साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, विदेशी पूंजी भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार आलोच्य सप्ताह में 1.28 अरब डॉलर बढ़कर 373.43 अरब डॉलर हो गया, जो 26,554.7 अरब रुपए के बराबर है।

सोने के भंडार में भी बढ़ोतरी
आलोच्य अवधि में देश का स्वर्ण भंडार 22.68 अरब डॉलर रहा, जो 1,611.5 अरब रुपए के बराबर है। इस दौरान, देश के विशेष निकासी अधिकार (एसडीआर) का मूल्य 62 लाख डॉलर बढ़कर 1.47 अरब डॉलर हो गया, जो 104.6 अरब रुपए के बराबर है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में देश के मौजूदा भंडार का मूल्य 1.12 करोड़ डॉलर बढ़कर 2.65 अरब डॉलर दर्ज किया गया, जो 188.8 अरब रुपये के बराबर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *