आम जनता को मिली राहत, 19 माह के निचले स्तर पर आई महंगाई दर

Breaking News Business

नई दिल्ली। आर्इआर्इपी के आंकड़ों के बाद मंगलवार को ही खुदरा महंगार्इ दर के आंकड़े भी जारी कर दिए गए हैं। जनवरी माह में खुदरा महंगार्इ दर 2.05 फीसदी पर रही है। महंगार्इ दर में यह गिरावट अंडा, सब्जी सेमत अन्य खाद्य वस्तुआें के दाम में कमी आने से आर्इ है। बता दें कि पिछले माह के मुकाबले जनवरी माह में इस गिरावट के बाद खुदरा महंगार्इ दर बीते 19 माह के निचले स्तर पर पहुंच गर्इ है। दिसंबर 2018 के संशोधित आंकड़ों के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा मुद्रास्फीति उस महीने 2.11 प्रतिशत थी, जबकि प्रारंभिक आंकड़ों में इसे 2.19 प्रतिशत बताया गया था। जनवरी, 2018 में खुदरा मुद्रास्फीति 5.07 प्रतिशत थी।


केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने आगे कहा कि फ्यूल और लाइट कैटिगरी में भी महंगाई दर इस साल जनवरी में घटकर 2.2 प्रतिशत पर आ गई, जो दिसंबर 2018 में 4.54 प्रतिशत थी। रिजर्व बैंक द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में खुदरा मुदास्फीति को ध्यान में रखता है। महंगाई दर में कमी के कारण केंद्रीय बैंक ने पिछले सप्ताह रीपो रेट 0.25 प्रतिशत की कमी कर के उसे 6.25 प्रतिशत पर ला दिया है। आरबीआई ने मानसून सामान्य रहने जैसे अनुकूल कारकों को देखते हुए चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के लिये खुदरा मुद्रास्फीति के अनुमान को कम कर 2.8 प्रतिशत कर दिया है।


आर्इआर्इपी ग्रोथ दर 2.4 फीसदी

मंगलवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, दिसंबर माह में आर्इआर्इपी ग्रोथ बढ़कर 2.4 फीसदी रही। नवंबर माह यह आंकड़ा 0.5 फीसदी रहा था। माह दर माह आधार पर माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 2.7 फीसदी से घटकर -1 फीसदी रही है। वहीं मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ -0.4 फीसदी से बढ़कर 2.7 फीसदी पर आ गई है। दिसंबर में इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ महीने दर महीने आधार पर 5.1 फीसदी से घटकर 4.4 फीसदी रही है। वहीं प्राइमरी गुड्स सेक्टर की ग्रोथ 2.2 फीसदी से घटकर -1.2 फीसदी रही है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *